WTO का फुल फॉर्म क्या होता है। WTO Full Form In Hindi

WTO का Relation व्यापार से है। किसी भी Country की financial situation वहां के व्यापार पर ही निर्भर होती है। जिस Country में अच्छे संसाधन एवं सुविधाएं होती है, वहां का व्यापार बहुत तरक्की करता है और साथ ही वहां की financial situation अच्छी बनी रहती है। गांव से लेकर शहर तक व्यापार की एक कड़ी बनी रहती है, जो पूरे देश में एक Business structure बनाकर रखती है। ये Business structure ही कहीं न कहीं उस Country की financial situation में समायोजन बनाये रखता है।

wto ka full form kya hai

WTO का Full Form क्या है और यह क्या काम करता है।

WTO का full form अंग्रेजी में World Trade Organization और हिंदी में विश्व व्यापार संगठन है। ये पूरे world में व्यापार को बढ़ावा देता है। व्यापारिक क्षेत्र में कई countries को व्यापार के लिए जागरूक बनाने के साथ-साथ उनकी world level तक पहुंच कायम करने का काम भी करता है।

  • WTO Stands For – World Trade Organization
  • WTO Full Form in Hindi – विश्व व्यापार संगठन

WTO क्या काम करता है

ऐसी कई सारी countries है जहां पर ऐसी कई सारी चीजें होती है, जो अन्य किसी दूसरी country में नहीं होती या वहां उसकी मांग होती है। ऐसी स्थिति में यदि Countries के बीच अच्छी trade relationship बनी हो, तो वे एक दूसरे के साथ चीजों को import-export कर सकती है। ये संगठन देश-विदेश में होने वाली व्यापारिक गतिविधियों पर नियंत्रण रखने के साथ-साथ व्यापार के लिए नियम बनाने का काम करता है। इतना ही नहीं विश्वभर में होने वाली व्यापारिक गतिविधियों पर नियंत्रण के साथ-साथ समायोजन भी बनाये रखता है। Countries के बीच अच्छी trade relationship बनी रहे इसके लिए भी ये संगठन पूरे world में काम करता है।

WTO की history के बारे में जानकारी

ये एक International Organization के अंतर्गत आता है। Second World War के बाद GENERAL AGREEMENT ON TARIFF AND TRADE बनाया गया था, जिसके स्थान पर व्यापार के लिए WTO की स्थापना 1 जनवरी 1995 को हुई। इस संगठन को व्यापार के क्षेत्र में काम करते हुए 24 वर्ष से ज्यादा हो चुके हैं। विश्वभर की आय को बढ़ावा देने के लिए और लोगों के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए इस संगठन को बनाया गया। इस संगठन ने उद्देश्य रखा कि पूरे world में world level तक व्यापार को बढ़ावा मिलना चाहिए। क्योंकि व्यापार ही एक ऐसा way है, जिसके माध्यम से विश्व स्तर तक की आय को संतुलित किया जा सकता है। इसका headquarter Switzerland की Geneva city में है।

WTO Structure

इस संगठन के 164 से अधिक member है और 20 से ज्यादा countries इससे जुड़ने हेतु आज भी प्रयासरत है। इसके Director-General Roberto Azevêdo है। इसमें 640 का staff काम करता है, जो इसके संचालन आदि का काम संभालता है।

इस संगठन में 5 council है, जिससे इसका Structure बना हुआ है-

  1. Ministerial Council
  2. General Council
  3. The Trade Policy Review Body
  4. Dispute Settlement Body
  5. The Councils on Trade in Goods and Trade in Services
  6. sterial Council (मंत्रिस्तरीय सम्मेलन)

ये इस संगठन का संचालक मंडल है। इसमें international ministers होते हैं, जो व्यापारिक नियमों तथा किसी भी तरह के बड़े Decision लेने के लिए उत्तरदायी होते हैं। कहने का अर्थ है ये इस संगठन का बड़ा और मुख्य मंडल है।

  1. General Council (सामान्य काउंसिल)

इसमें Countries के senior agents होते हैं, जो कई व्यवहारिक मामलों में निर्णय आदि लेने का काम करते हैं। एक तरह से ये भी इस संगठन का मुख्य मंडल है। जितने भी छोटे मंडल होते हैं वो निर्णय के लिए इसी मंडल को सूचित करते हैं।

  1. The Trade Policy Review Body (व्यापार नीति समीक्षा निकाय)

जैसा कि इसका नाम है “व्यापार नीति समीक्षा निकाय” इसके नाम से ही पता चलता है कि ये व्यापारिक नीतियों की समीक्षा करने का काम करता है। ये समय-समय पर व्यापारिक नीतियों की जांच कर विश्लेषण करता है कि ये किस स्तर तक संगठन के लिए सही है।

  1. Dispute Settlement Body (विवाद निपटान निकाय)

जैसा कि WTO पूरे world level तक Countries के बीच अच्छे सम्बन्ध बनाने का प्रयास करता है। कई बार व्यापारिक मामले में कई विवाद पैदा हो जाते हैं, जिसके समाधान के लिए ही ये निकाय काम करता है। जो भी विवाद होते हैं संगठन का ये निकाय उनकी relationship सुधारने का काम करता है।

  1. The Councils on Trade in Goods and Trade in Services (वस्तुओं एवं सेवाओं में व्यापार पर परिषद)

इस संगठन का ये निकाय वस्तुओं पर जो भी agreement वगेरा होते हैं उन पर विचार और समीक्षा के लिए व्यवस्था करता है। व्यापारिक समायोजन और नियंत्रण के लिए ये निकाय काम करता है।

WTO के विशेष कार्य

  1. अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर यह संगठन व्यापारिक गतिविधियों को अंजाम देकर व्यापार से सम्बंधित भेदभाव को खत्म करने का काम करता है। साथ ही सभी देशों के बीच एकता बढ़ाने का काम भी करता है।
  2. जिन देशों की आर्थिक स्थिति सही नहीं होती, वहां व्यापार के लिए यह संगठन देश-विदेशों को ऋण उपलब्ध करवाता है।
  3. सीमा शुल्क और import restrictions को कम करने के साथ-साथ व्यापारिक गतिविधियों में आने वाले अवरोध को दूर करने का काम भी करता है।
  4. विश्व भर की आय में इज़ाफ़ा करने के लिए व्यापार में रोजगार के अवसर को बढ़ाने का काम भी यह संगठन करता है।
  5. यह संगठन विश्व स्तर तक के सभी लोगों के जीवन स्तर को सुधारने और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने का काम करता है। यह संगठन यही उद्देश्य लेकर चलता है कि व्यापारिक गतिविधियों से प्रति व्यक्ति आय को भी सुधारा जा सके।
  6. यह संगठन विश्व भर में अच्छी व्यापारिक नीतियों को बनाकर शांति बनाए रखने और कमज़ोर वर्ग के हित के लिए काम करता है।
  7. यह संगठन विश्व भर में Countries के लिए सुशासन Develop करने और एक अच्छा व्यापारिक तंत्र बनाये रखने का काम करता है।
  8. यह संगठन सरकारी संगठनों के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय संगठनों को व्यापार के लिए जागरूक करने का काम भी करता है। ऐसा करने से व्यापार के ढांचे में संतुलन बना रहता है।
  9. यह संगठन व्यापारिक मसलों से निपटने के लिए एक platform देता है और साथ ही निष्पक्ष व्यापार को बढ़ावा देने का काम करता है।
  10. यह संगठन अपनी व्यापारिक गतिविधियों में पूरी पारदर्शिता बनाये रखने का प्रयास करता है। इसीलिए यह संगठन पूरे विश्व भर में विश्वसनीय है।

Leave a Reply