NET का फुल फॉर्म क्या है? NET stands for?

 National Eligibility Test

NET का फुल फॉर्म National Eligibility Test होता है। NET को हिंदी में राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा के नाम से भी जाना जाता है। NET को UGC NET तथा NTA UGC NET के नाम से भी जाना जाता है। पहली बार इस परीक्षा का आयोजन 1989 में किया गया था। उसी के बाद से लगातार इसका आयोजन किया जाता रहा है। National Eligibility Test का आयोजन University Grants Commission (UGC) के द्वारा किया जाता है। NET की परीक्षा साल में दो बार आयोजित होती है। यह पूरे भारत में आयोजित की जाती है।
अगर कोई व्यक्ति अच्छे विश्वविद्यालय से Ph.D करना चाहता है या प्रोफेसर इत्यादि बन कर शिक्षा के क्षेत्र में जाना चाहता है तो पहले उसे NET की परीक्षा पास करनी होती है। इसी के बाद उसका एडमिशन किसी अच्छे विश्विद्यालय में हो पाता है। तथा कोई व्यक्ति प्रोफेसर बन पाता है। इसके अलावा Junior Research Fellowship (JRF) के लिए भी चयन NET परीक्षा के ही आधार पर किया जाता है।

NET के तहत कई भाषा समेत कई महत्वपूर्ण विषयों की परीक्षा ली जाती है। इसके तहत हिंदी, राजस्थानी, संस्कृत, अंग्रेजी, इत्यादि भाषाओं की परीक्षा ली जाती है। वहीं, Computer Science तथा Engineering, Computer application, Social Science, Forensic Science, इतिहास, राजनीतिक विज्ञान, Sociology, Anthropology, Home Science इत्यादि विषयों की परीक्षा NET के तहत ली जाती है।

भारत में एक नियम तय किया गया है। इसके तहत किसी निजी कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर NET पास किया हुआ व्यक्ति भी हो सकता है या नही भी। इसके लिए बाध्यता नही है। लेकिन Universities तथा Government College में केवल एक NET पास किया हुआ व्यक्ति ही असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर बहाल किया जा सकता है। भारत में UPSC की परीक्षा के बाद NET परीक्षा को ही सबसे कठिन परीक्षा माना गया है। जून 2019 में 9,42,419 लोगों ने देश भर से 101 विषयों में NET परीक्षा दिया था। इसमें से केवल 55,701 व्यक्ति ही सफल हो पाए थे।

Leave a Reply