LCD का फुल फॉर्म क्या है? LCD full form

एल सी डी

Liquid Crystal Display

LCD का फुल फॉर्म Liquid Crystal Display होता है। LCD को हिंदी में द्रव क्रिस्टल प्रादर्शी कहते हैं। एलसीडी वास्तव में एक प्रकार का फ्लैट पैनल डिस्प्ले है। इसका उपयोग टीवी, कंप्यूटर समेत अधिक्तर आधुनिक इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में किया जाता है। डिस्प्ले का मुख्य काम चित्र या किसी अन्य चीज़ को प्रदर्शित करना है।

LCD की खासियत यह है कि यह बेहद ही कम बिजली की खपत करता है। इसके अलावा इसमें प्रदर्शित होने वाले चित्रों की गुणवत्ता भी काफी उच्च गुणवत्ता होती है।

LCD के कई प्रकार है। यह इसकी गुणवत्ता के आधार पर वर्गीकृत किया गया है।

LCD के प्रकार

• Twisted Nematic (TN) – यह LCD का ही एक प्रकार है। लेकिन इसकी गुणवत्ता कम होती है। इसकी मुख्य वजह यह है कि इसका contrast ratios काफी कम होता है। इसके अलावा इसे एक सीमित Angles तक ही देखने में साफ से देख सकते है। यानी कि इसकी Viewing Angles तथा Colour Contrasts भी काफी कम होता है। इस प्रकार के LCD की कीमत कम होती है।

• In Panel Switching displays – इसे आईपी पैनल के नाम से भी जाना जाता है। Twisted Nematic प्रकार के LCD की तुलना में यह अच्छी गुणवत्ता का LCD है। इसकी मुख्य वजह यह है कि इसमें Contrast Ratios, Viewing Angle तथा Colour Contrasts अधिक होता है।

• Vertical Alignment Panels – इस प्रकार के LCD को VA Panels के नाम से भी जाना जाता है। इस प्रकार की LCD को आईपी पैनल डिस्प्ले तथा TN डिस्प्ले के बीच की गुणवत्ता का डिस्प्ले माना जाता है।

• Advanced Fringe Field Switching (AFFS)- AFFS को सबसे बेहतर गुणवत्ता का LCD माना जाता है। अन्य प्रकार के LCD के मुकाबले यह थोड़ा महंगा होता है। लेकिन इसकी गुणवत्ता सभी अन्य LCD के मुकाबले बेहतर होती है। इसमें दिखने वाले चित्र अधिक साफ होते हैं। इसकी Viewing Angle भी अधिक होती है।

Leave a Reply